भदोही के विधायक विजय मिश्रा की गिरफ्तारी के तुरंत बाद उनकी बेटी आई सामने कहा, कहीं कानपूर वाले विकास दुबे की तरह यूपी पुलिस की गाड़ी न फिसल जाये

भदोही न्यूज़:

भदोही के विधायक विजय मिश्रा की गिरफ्तारी के तुरंत बाद उनकी बेटी रीमा मिश्रा सामने आई है। रीमा  मिश्रा ने कहा कि पुलिस मेरे पिता को सही तरीके से  कानून के अंतर्गत कोर्ट लाये और कानून के अंतर्गत कार्रवाई करें। कानपूर वाले विकास दुबे की तरह फ़र्ज़ी  एनकाउंटर नहीं होना चाहिए।  उन्होंने आगे बताया की मुझे यह आशंका है कि मेरे पिता के साथ कुछ भी गलत हो सकता है। रीमा ने यूपी पुलिस पर कटाक्ष करते हुए कहा की इस बार गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए।

 

भदोही के ज्ञानपुर से विधायक विजय मिश्रा को आज सुबह को मध्यप्रदेश में गिरफ्तार करने के कुछ देर बाद ही रीमा मिश्रा ने अपना पक्ष रखते हुए सामने आयी।  कहा की अपनी मां के लिए अग्रिम जमानत याचिका कोर्ट में लगाई थी।  इसी दौरान मुझे पता चला कि मेरे पिता को भी मध्यप्रदेश में गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने पूछा कि वहां मेरे पिता किस  की कस्टडी में हैं।  दोनों राज्यों की पुलिस टीम ने आपस में सहयोग किस  प्रकार किया।  विधायक की बेटी ने कहा कि पुलिस से केवल यह कहना चाहती हैं कि मेरे पिता को सही तरीके सेकानून के तहत कोर्ट में लाया जाए।

 

आपको बता दें कि भदोही के ज्ञानपुर से विधायक विजय मिश्रा को आज सुबह मध्य  प्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।  पुलिस के अनुसार उनके भदोही से मध्य प्रदेश की तरफ भागने की खबर मिली।  इसके बाद मध्य प्रदेश के आगर मालवा जिले में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।  भदोही से पुलिस टीम विधायक को अपनी कस्टडी में लेने के लिए  अविलम्ब रवाना हो गई है।

 

दो दिन पहले ही विधायक ने अपने एनकाउंटर की आशंका जताई थी।  गुरुवार की रात से अचानक उनकी एमएलसी पत्नी रामलली मिश्रा भी लापता हो गई है। जिनकी अग्रिम जमानत की बात उनकी  बेटी रीमा मिश्रा कर रही हैं। विधायक विजय मिश्रा पर पिछले दिनों गुंडा एक्ट लगा था।  उसके बाद से ही विधायक उनकी  पत्नी राम लली मिश्रा और बेटे विष्णु मिश्रा पर पड़ोसी कृष्ण मोहन तिवारी ने मारपीट और घर पर कब्ज़ा करने का मुकदमा दर्ज कराया था।

 

आठ अगस्त को मुकदमा दर्ज होने के बाद से जांच और तीनों की धड़पकड़ के लिए तलाश जारी थी।  केस दर्ज होने के बाद से ही विधायक गायब हो गए थे।  इसी बीच विजय मिश्रा ने ब्राह्मण कार्ड खेलते हुए एक वीडियो जारी कर कहा कि ब्राह्मण होने के नाते उन्हें परेशान किया जा रहा है। मुझे भय है की पुलिस कभी भी मेरा  एनकाउंटर कर सकती  हैं।  उन्होंने कहा कि मेरी पत्नी रामलली और बेटे विष्णु मिश्रा को झूठे केस में फंसाया जा रहा है।

 

विजय मिश्र ने आरोप लगाया कि ब्राह्मण होने के नाते उन्हें परेशान किया जा रहा है, क्योंकि वो ब्राह्मण होकर भी पिछले चार बार से विधायक हैं। उनके साथ ये सब इसलिए हो रहा है क्योंकि बनारस या चंदौली का कोई गुंडा यहां आकर चुनाव लड़ सके। विधायक विजय मिश्र ने कहा था कि आरोप लगाने वाले रिश्तेदार का मकान अलग और उनका मकान अलग है। जिसकी पूरी कागजात उपलब्ध है और उसमे भी यही लिखा है। विजय मिश्र ने प्रशासन पर भी उनके खिलाफ षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया। विधायक ने कहा कि सारे विरोधी नेता और पुलिस विभाग मिले हुए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *