भारत की सबसे बड़ी ऊर्जा कंपनी कोविड के दौरान जरूरी स्वास्थ्य सुविधाओं का कर रही विस्तार

भारत की सबसे बड़ी एकीकृत ऊर्जा कंपनी एनटीपीसी कोविड के दौरान आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार कर रही है। एनटीपीसी,विद्युत मंत्रालय के अंतर्गत आने वाली कंपनी है। एनटीपीसी ने अपने सभी संयंत्र परिसर में स्थित कोविड उपचार केंद्रों में ऑक्सीजन युक्त बेड की संख्या बढ़ाई है। कोविड संक्रमित गंभीर मरीजों को ऑक्सीजन युक्त बेड की आवश्यकता पड़ती है। माइल्ड लक्षण वाले मरीजों को सामान्य आइसोलेशन बेड की आवश्यकता पड़ती है। एनटीपीसी, दोनों ही श्रेणियों के बेड की संख्या में वृद्धि कर रहा है।

देश के अलग-अलग स्थानों में एनटीपीसी परिसर में स्थित अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाई

एनटीपीसी द्वारा अब तक विभिन्न संयंत्रों में स्थित अस्पताल में ऑक्सीजन युक्त 500 से अधिक बेड और 1100 से अधिक आइसोलेशन बेड जोड़े गए हैं। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में एनटीपीसी ने बदरपुर, नोएडा और दादरी में कोविड केयर केंद्र की स्थापना की है। इन केंद्रों में 200 ऑक्सीजन युक्त बेड और 140 आइसोलेशन बेड की सुविधा दी गई है। इसके अलावा, कंपनी ने ओडिशा के सुंदरगढ़ में 500 बेड वाला कोविड स्वास्थ्य केंद्र की स्थापना की है। सुंदरगढ़ में 20 वेंटिलेटर की भी व्यवस्था है। देश भर के अलग-अलग स्थानों में जैसे दादरी, कोरबा, रामगुंडम और विंध्याचल में पहले से ही कोविड देखभाल केंद्र का संचालन किया जा रहा है। इसके अलावा एनटीपीसी उत्तरी कर्णपुरा, बोंगाईगांव और सोलापुर में भी अतिरिक्त केंद्रों की स्थापना की जाएगी। वहीं, अन्य अस्पतालों में ऑक्सीजन की सुविधा वाले बिस्तरों की संख्या में वृद्धि की जाएगी।

अस्पताल में भर्ती मरीजों के समुचित उपचार की है व्यवस्था

एनटीपीसी द्वारा कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों के उपचार की समुचित व्यवस्था भी की गई है। सभी कोविड रोगियों को सबसे बेहतर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के उद्देश्य से चिकित्सकों की टीम दिन-रात काम कर रही है। मरीजों को सभी बुनियादी सुविधाएं और बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान की जा रही है। दुर्लभ दवाईयों की आपूर्ति और ऑक्सीजन जैसी अन्य जरूरी चीजों की उपलब्धता के लिए एनटीपीसी विद्युत मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ सतत संपर्क में है। इसके अलावा अस्पताल परिसर में 24 घंटे नियंत्रण कक्ष भी संचालित होता है। इस नियंत्रण कक्ष में समर्पित टीम काम कर रही है। जो दैनिक रिपोर्टिंग के साथ दवाओं और अस्पताल के उपकरणों की व्यवस्था देखती है।

ऑक्सीजन संयंत्र की स्थापना भी कर रही कंपनी

बेड की संख्या में वृद्धि करने के साथ-साथ एनटीपीसी द्वारा ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना भी की जा रही है। कंपनी द्वारा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 11 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों के लिए ऑर्डर दिया जा चुका है। इसके अलावा बॉटलिंग सुविधा युक्त 2 बड़े ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित किए जा रहे हैं। एनटीपीसी अन्य राज्यों में 8 विभिन्न स्थानों पर ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र भी स्थापित कर रही है। कंपनी ने अन्य राज्यों में स्थित विभिन्न सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों की स्थापना के लिए सहायता भी प्रदान की है।

टीकाकरण अभियान भी संचालित कर रही एनटीपीसी

कोविड के विरुद्ध लड़ाई में टीकाकरण बेहद प्रभावी है। केंद्र सरकार ने जनवरी में विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान प्रारम्भ किया। एनटीपीसी भी पुरजोर तरीके से टीकाकरण कार्यक्रम संचालित कर रही है। एनटीपीसी ने सभी संयंत्रों के अपने 70,000 से अधिक कर्मचारियों और सहयोगियों को टीका लगाया है। सभी संयंत्रों में बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान चल रहा है। कई संयंत्र स्थानों पर 18-44 आयु श्रेणी के लोगों का टीकाकरण भी शुरू कर दिया गया है। एनटीपीसी, राज्य प्रशासन के साथ समन्वय कर स्टेशनों पर टीकाकरण अभियान चला रही है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Covid Updates