कोरोना से लड़ाई में सरकार की मदद के लिए अब देश की बड़ी महारत्न कंपनी आई आगे, युद्ध स्तर पर छेड़ा अभियान

वायरस जनित महामारी से लड़ने के लिए पूरा देश एकजुट है। इस सदी के सबसे बड़े संकट का सामना करने के लिए और अपने नागरिकों की प्राण रक्षा के लिए भारत सरकार हर संभव कदम उठा रही है। विभिन्न मंत्रालयों और उनके अंतर्गत आने वाले उद्यम भी पूरी क्षमता के साथ देश के नागरिकों को समुचित स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रयासरत है। प्रयासों की एक बानगी दक्षिण में देखने को मिल रही है। केरल में भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड ( BPCL) वृहद कोविड उपचार केंद्र का निर्माण कर रहा है। बीपीसीएल भारत सरकार के पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तहत एक महारत्न सार्वजनिक उपक्रम है। केरल के अम्बालमुगल में कोच्चि रिफाइनरी द्वारा संचालित स्कूल परिसर के पास बीपीसीएल ने 100 बिस्तरों वाला का एक अस्थायी कोविड उपचार केन्द्र प्रारंभ किया है।

उपचार केंद्र में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराएगा बीपीसीएल

अम्बालमुगल के इस कोविड उपचार केंद्र में सभी मूलभूत सुविधाएं बीपीसीएल द्वारा उपलब्ध करवाई जाएंगी। इस उपचार केंद्र में बिजली एवं पानी की पर्याप्त व्यवस्था भी की गई है। कोविड संक्रमित कुछ मरीजों को ऑक्सीजन की भी जरूरत पड़ रही है, ऐसे में बीपीसीएल द्वारा इस अस्पताल में ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति की जाएगी। यह आपूर्ति स्टेनलेस स्टील पाइपलाइन के माध्यम से होगी। वर्तमान में 100 बिस्तरों वाले इस अस्पताल को शीघ्र ही 1500 बिस्तर की क्षमता में बदलने की भी योजना है।

देश के विभिन्न राज्यों में बीपीसीएल कर रहा तरल ऑक्सीजन की आपूर्ति

बीते कुछ महीनों से बीपीसीएल पूरे देश में तरल ऑक्सीजन की आपूर्ति कर रहा है। मुंबई और बीना स्थित रिफाइनरियों की क्षमता बढ़ाकर देश के विभिन्न अस्पतालों को तरल ऑक्सीजन उपलब्ध करवाया है। मुंबई रिफाइनरी से 600 मीट्रिक टन और कोच्चि रिफाइनरी से हर महीने 100 मीट्रिक टन तरल ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। बीपीसीएल निःशुल्क ऑक्सीजन की आपूर्ति कर रहा है। कोविड के दौर में ऑक्सीजन की आपूर्ति से अस्पतालों के स्वास्थ्य ढांचे को बेहद मदद मिली है।

ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना कर रहा बीपीसीएल

भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड द्वारा देश के अलग-अलग राज्यों के शासकीय अस्पतालों में ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित किए जा रहे हैं। बीपीसीएल द्वारा, महाराष्ट्र के दो, केरल के तीन और मध्य प्रदेश के पांच अस्पतालों में ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित किया जा रहा है। संयंत्र में बॉटलिंग कंप्रेसर भी लगाया जा रहा है। संयंत्र की स्थापना और इस व्यवस्था से तेजी से ऑक्सीजन का उत्पादन होगा और देश के सभी राज्यों के विभिन्न अस्पतालों में सिलेंडर के जरिए ऑक्सीजन आपूर्ति की व्यवस्था को गति मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Covid Updates