कोविड से बचने के लिए डबल मास्क है जरूरी, जानें डबल मास्क को पहनने का सही तरीका

देश में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर में स्वास्थ्य विशेषज्ञ दो मास्क का उपयोग करने के लिए लोगों को प्रेरित कर रहे हैं, जिसे प्रचलित रूप से “डबल मास्किंग” कहा जाता है। विशेषज्ञों के अनुसार, यह कोरोना वायरस के खिलाफ एक मजबूत अवरोध बनाने में मदद करेगा। डबल मास्किंग, कपड़े और सर्जिकल मास्क के साथ, कोरोना वायरस के प्रवेश को रोक सकते हैं और चेहरे को पूरी तरह से कवर करने में मददगार साबित होते हैं। यूनाइटेड स्टेट्स सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) द्वारा अध्ययन में पाया गया है कि डबल मास्किंग संक्रमण के खतरे को 85.5 प्रतिशत कम कर देती है।

डबल मास्क और उससे जुड़े तमाम महत्वपूर्ण सवालों के जवाब के लिए प्रसार भारती ने देश के जाने-माने वरिष्ठ स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चर्चा की। जानते हैं क्या कुछ कहा उन्होंने…

डबल मास्क क्यों है जरूरी ?

 

एम्स, दिल्ली की डॉ. अंजन त्रिखा का कहना है कि डबल मास्क की आवश्यकता इसलिए है क्योंकि अक्सर लोगों का मास्क नाक के नीचे और गले में रहता है इससे वायरस जाने की संभावना रहती है। उन्होंने कहा, “चूंकि हर कोई रोज डिस्पोजल वाले मास्क खरीद कर नहीं लगा सकता है इसलिए कॉटन का ट्रिपल लेयर मास्क लगाते हैं, लेकिन उसे भी हर दिन धोना है। ऐसे में अगर, डबल मास्क लगाएंगे तो सुरक्षा और बढ़ जाती है। अगर एक मास्क नीचे करेंगे तो भी दूसरा मास्क लगा रहेगा।” इस बारे में सफदरजंग हॉस्पिटल, दिल्ली की डॉ. रूपाली मलिक का कहना है कहीं न कहीं एयर बोर्न ट्रांसमिशन हो रहा है इसलिए डबल मास्क लगाने को कहा जा रहा है।  

 

कैसे करनी है डबल मास्किंग ?

 

लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज के डॉ. अनुपम प्रकाश ने बताया कि पिछले साल कम्यूनिटी ट्रांशमिशन की बात हो रही थी और इस बार कहीं न कहीं समाज में ट्रांशमिशन चल रहा है। लगभग हर मोहल्ले और घर में लोग कोरोना से संक्रमित हैं। ऐसे में वायरस से बचने के लिए डबल मास्क जरूरी है। अगर एन95 मास्क लगा रहे हैं तो उसे डबल नहीं करना है। ये कॉटन या सर्जिकल मास्क के लिए है। जैसे, पहले एक कॉटन का मास्क लगा रहे हैं तो उसके ऊपर सर्जिकल मास्क होना चाहिए या फिर सर्जीकल मास्क अंदर है तो ऊपर कॉटन का मास्क लगा लें। उन्होंने कहा कि जो भी मास्क ऊपर लगाएं, उससे नीचे वाला मास्क पूरी तरह से ढका हुआ होना चाहिए। 

 

दोनों मास्क नहीं होनें चाहिए सर्जिकल

 

डबल मास्क पहनते समय कुछ गलतियां हैं, जिनसे हमें बचना चाहिए। डबल मास्क पहनते समय एन95 मास्क के साथ सर्जिकल मास्क नहीं पहनना चाहिए। एन95 मास्क को अगर सही तरीके से पहना जाए तो वह अकेले ही संक्रमण रोकने में सक्षम है। ये ध्यान देना जरुरी है कि डबल मास्क पहनते समय हमारे दोनों मास्क सर्जिकल नहीं होने चाहिए लेकिन दोनों मास्क कपड़े के हो सकते हैं। इन बातों का ध्यान रखकर हम खुद को और दूसरों को भी कोरोना वायरस से संक्रमित होने से बचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Covid Updates