ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड लक्षण वाले लोगों की खोज बुधवार से नौ मई तक घर-घर दस्तक देंगी टीम

आशा की देखरेख में टीम के सदस्य खांसी, सर्दी, जुकाम व कोविड लक्षण वालों की करेंगे पहचान

कासगंज ब्यूरो। ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग बुधवार( 5 मई) से विशेष कोविड जागरूकता अभियान शुरू करने जा रहा है | यह अभियान नौ मई तक चलेगा | स्वास्थ्य विभाग की टीमें गावों में घर-घर जाकर लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक करते हुए लक्षण के बारे में बताएंगी। सर्दी, जुकाम , खांसी, बुखार इत्यादि लक्षण मिलने पर मरीजों को घर पर मेडिकल किट उपलब्ध कराएंगी। अभियान में कोविड गाइड लाइन का पालन किया जाएगा
मंगलवार को ब्लॉक स्तर पर सभी आशा कार्यकर्ता और सुपरबाइजर को इस बारे में प्रशिक्षण दिया गया |


ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना पाजिटिव की बढ़ती संख्या को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्र की जनता को औषधियां तथा उपचार सुलभ रूप से उपलब्ध कराने के लिए जो विशेष अभियान शुरू किया जा रहा है उसमें भी आशा के अतिरिक्त दो अन्य कर्मचारी एक टीम में रहेंगे। प्रत्येक टीम में आशा, आंगनवाड़ी वर्कर, अध्यापक अथवा निगरानी समिति के सदस्य में से उपलब्धता के आधार पर कुल दो सदस्य ही चयनित किए जाएंगे।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अनिल कुमार ने बताया कि गृह भ्रमण के दौरान टीम कोविड रोग के लक्षणों वाले लोगों को खोजेगी। उन्हे बचाव के उपायों, उपलब्ध जांच एवं उपचार सुविधाओं के विषय में अवगत कराएगी।
ऐसे लक्षण युक्त व्यक्तियों को जिन्हें तत्काल औषधि की आवश्यकता है, उन्हें औषधि मुहैया कराएंगी। ज्यादा गंभीर लोगों के नाम पोर्टल पर अपलोड होंगे। साथ ही प्राइमरी व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी को वह नाम नोट कराए जाएंगे।
अभियान के लिए माइक्रो प्लान तैयार कर लिया गया है। इस अभियान में 18 वर्ष से ऊपर के लोगों को टीकाकरण के बारे में भी बताया जाएगा।
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ अनिल कुमार ने बताया कि अभियान आगे भी आगे बढ़ाया जा सकता है। प्रत्येक टीम को मेडिसिन किट भी उपलब्ध कराई जा रही हैं।
इस अभियान के लिए जिले में डेढ़ हजार टीमें बनाई गईं हैं, जिसमें प्रत्येक टीम में दो सदस्य होंगे साथ ही इस कार्य की निगरानी और रिपोर्टिंग के लिए सुपरवाईजर भी लगाये गए हैं |
टीमें लक्षणयुक्त व्यक्तियों को सूचीबद्ध कर उनकी सूचना ब्लाक तथा जनपद मुख्यालय को प्रेषित करेंगी। ऐसे सभी व्यक्तियों की नजदीकी जांच केंद्र पर जाकर जांच कराई जाएगी। कार्य योजना फॉर्मेट, रिर्पोटिंग फॉर्मेट, मेडिसिन किट के साथ रखे जाने वाले पम्फलेट का प्रारूप भी टीम के पास रहेगा ।

बुखार-खांसी-दस्त को न करें नजरअंदाज

आपको बुखार, खांसी-जुकाम है तो उसे साधारण फ्लू समझने की गलती बिल्कुल न करें। यह कोरोना के लक्षण भी हो सकते हैं, दस्त भी है तो भी डाक्टर से परामर्श अवश्य लें।कोविड-19 टेस्ट कराएं रिपोर्ट के अनुसार इलाज कराएं।

रिपोर्ट: सचिन उपाध्याय,
कासगंज
मो. 9758779626

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Covid Updates