सेंसेक्स 929 अंक चढ़ा, निफ्टी 17,625 पर बंद; बैंक, फार्मा शेयरों में सबसे ज्यादा बढ़त

भारतीय इक्विटी सूचकांक सोमवार को बढ़त के साथ बंद हुए। कंज्यूमर ड्यूरेबल और हेल्थकेयर शेयरों में खरीदारी की जबरदस्त दिलचस्पी देखी गई। ब्लू-चिप शेयरों में बजाज फाइनेंस 3.52 फीसदी चढ़ा। बजाज फिनसर्व, आईसीआईसीआई बैंक, टाटा स्टील और इंडसइंड बैंक सेंसेक्स के अन्य शीर्ष लाभार्थियों में से थे। जबकि डॉ रेड्डीज लैब्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, टेक महिंद्रा और नेस्ले पिछड़ रहे थे।

इससे पहले एशियाई सूचकांकों में दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.37 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.57 प्रतिशत चढ़ा। जापान का निक्केई 225 इंडेक्स 0.40 फीसदी गिरा

बाजार अवलोकन

बीएसई सेंसेक्स और निफ्टी 50 में क्रमश: 1.60 और 1.57 फीसदी की तेजी आई। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स 59,150 के स्तर पर बंद हुआ जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 50 17,625 के स्तर पर बंद हुआ। सेंसेक्स 929 अंक बढ़कर 59,183 पर और निफ्टी 50 271 अंक बढ़कर 17,625 पर कारोबार कर रहा था।

निफ्टी 50 इंडेक्स

निफ्टी 50 इंडेक्स शेयरों में कोल इंडिया सबसे ज्यादा बढ़त 6.33 फीसदी की बढ़त के साथ रही। आयशर मोटर्स, एक्सिस बैंक, बजाज फाइनेंस, टाटा मोटर्स और टाटा स्टील अन्य लाभार्थियों में से थे।

दूसरी ओर, सिप्ला 1.44 प्रतिशत की गिरावट के साथ पैक में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला था। डॉ रेड्डीज लैब्स, एमएंडएम, डिविस लैब्स और टेक महिंद्रा पैक में अन्य सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले थे।

स्मॉल-कैप और मिड-कैप इंडेक्स

निफ्टी मिडकैप-100 इंडेक्स 1.13 फीसदी और निफ्टी स्मॉलकैप-100 इंडेक्स 1.15 फीसदी चढ़े. निफ्टी मिडकैप 100 में फेडरल बैंक 5.06 फीसदी, एबी कैपिटल 4.43 फीसदी, आरबीएल बैंक, अशोक लीलैंड और फोर्टिस हेल्थ में भी तेजी आई, जबकि धनी सर्विसेज, लॉरस लैब्स और सनोफी इंडिया में गिरावट आई। निफ्टी स्मॉलकैप-100 में शिल्पा 10.90 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुई. वहीं, एपीएल अपोलो 5.07 फीसदी, आईआरबी इंफ्रा, केईआई इंडस्ट्रीज और तानला प्लेटफॉर्म में गिरावट आई।

क्षेत्रीय सूचकांक

एनएसई सेक्टोरल इंडेक्स में 20 में से 18 सेक्टरों में तेजी रही। निफ्टी कंज्यूमर ड्यूरेबल 3.90 फीसदी की बढ़त के साथ शीर्ष प्रदर्शन करने वाला था, निफ्टी हेल्थकेयर 3.89 फीसदी बढ़ा, इसके बाद निफ्टी प्राइवेट बैंक 2.72 फीसदी बढ़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.